B.Com Course Kaise Kare in Hindi [2020] – Admission | Fees | Subjects

आप भी यह जानना चाहते है की B.Com Course Kaise Kare in Hindi. आपको कॉमर्स में कोई अच्छी डिग्री लेनी है तब आप सबसे पहले B.Com की पढाई कर सकते है और इसके अलावा आप CA Foundation , BBA, CS Foundation की पढाई भी कर सकते है.

मैंने बारहवी पास करने के बाद B.Com में एडमिशन लिया था क्यूंकि मैं ने 11 और 12 क्लास में कॉमर्स की पढाई की थी. इसलिए बी० कॉम कोर्स के बारें में मैं आपको अच्छे से बता सकता हूँ.

जब मैंने क्लास 10 पास किया था तब मैं भी बहुत कंफ्यूज था की मुझे अब किस तरफ जाना चाहिए. मैं सोच रहा था की साइंस लूँ, आर्ट्स लूँ या फिर कॉमर्स लूँ .

इस प्रॉब्लम को मैंने अपने इंटरेस्ट (रूचि ) और अपने टीचर के साथ मिलकर सुलझाया. क्यूंकि आपके पेरेंट्स और टीचर को पता होता है और वह आपको शुरू से देखते आ रहे है की आपका किस चीज में रूचि है? इसलिए अपने पेरेंट्स और टीचर से एकबार जरुर बात करें.

इसलिए किसी कोर्स या फैसला लेने से पहले अच्छी तरह से सोच विचार ले क्यूंकि बाद में आपको अफ़सोस नही होना चाहिए.

चलिए, अपने इतना पढ़ा तो मैं समझ गया की आपको कॉमर्स में रूचि है और आपको B.Com की पढाई करनी है या फिर आपको इस विषय में जानकारी चाहिए.

अब आपको यह जानना जरुरी है की इस कोर्स में दाखिला लेने के शैक्षिक योग्यता कितनी चाहिए, कितना प्रतिशत मार्क्स चाहिए, फीस कितनी देनी होगी और सबसे जरुरी B.Com करने के बाद नौकरी कौन सी मिलेगी और आप आगे पढना चाहते है तो आप क्या – क्या पढ़ सकते है.

B.Com Course क्या है?

B.com कॉमर्स मे एक अंडर ग्रेजुएट डिग्री ( स्नातक की डिग्री ) कोर्स है. इस कोर्स में कॉमर्स और उसके संबंधित विषयों के बारें में आपको पढाई करनी होती है. यह कोर्स बहुत पोपुलर है और अधिकतर स्टूडेंट्स इस कोर्स को करते है.

B.com का Full Form [Hindi & English]

  • B.Com Full Form (English) – Bachelor of Commerce
  • B.Com Full Form (Hindi) – वाणिज्य स्नातक

B.Com (Gen) और B.Com (Hons) में अंतर क्या है?

मैंने देखा है की अक्सर बहुत से लोग यह सोच में पड़ जाते है कि B.Com (Gen) और B.Com (Hons) दोनों में अंतर क्या है. दोनों अलग – अलग कोर्स तो नही है इत्यादि इत्यादि. चलिए देखते है कि इन दोनों में अंतर क्या – क्या है ?

B.Com (Hons)

  • इसमे आपको विषय को बहुत ही गहराई से पढना पढता है.
  • आपको किसी एक विषय में विशेषज्ञता (specialization) प्राप्त करनी होती है.
  • बी कॉम Hons में एडमिशन के लिए बहुत से विश्वविद्यालय में कट ऑफ बहुत ज्यादा होते है.
  • B.Com (Hons) करने वालो की इंडस्ट्रीज में बहुत ज्यादा मांग है.
  • B.Com (Hons) करने के बाद आप MBA और M.com की पढाई कर सकते है.

B.Com (Gen)

  • इसमे आपको विषय के बारें ओवरव्यू दिया जाता है.
  • किसी एक विषय में विशेषज्ञता प्राप्त करने की जरुरत नही है.
  • B.Com (Gen) में एडमिशन के लिए आपको ज्यादा कट ऑफ की जरुरत नही है .
  • B.Com (Gen) करने वालो की उतना मांग नही है.
  • ऐसा अक्सर देखा जाता है कि B.Com (Gen) पास करने वालो को Hons वालो की तुलना में कम सैलरी वाली जॉब मिलती है.

B.Com Course Kaise Kare in Hindi [Details]

अब हम बात करते है B.Com Course के Details के बारें में .आप जनोंगे की बी कॉम में एडमिशन लेने के लिए आपको कितने प्रतिशत मार्क्स चाहिए होंगे और एडमिशन प्रक्रिया क्या – क्या है और बी कॉम में आपको कौन – कौन से Subjects पढ़ने होंगे.

Qualification for B.Com Course

  • B.Com कोर्स में एडमिशन के लिए आपको 12 पास होना अनिवार्य है ,चाहे आप किसी भी स्ट्रीम से हो.
  • B.Com में आप को दो विकल्प मिलते है – (1) B.Com (Gens) और (2) B.Com(Hons)
  • B.Com (Gens) करने के लिए कम से कम 40 से 55 प्रतिशत मार्क्स होने चाहिए.
  • B.Com (Hons) करने के लिए आपको कम से कम 60 से 85 प्रतिशत मार्क्स होने चाहिए.
  • कोई कोई विश्वविद्यालय और कॉलेज में डायरेक्ट 12 क्लास के मार्क्स के मेरिट के हिसाब से एडमिशन दिया जाता है और
  • किसी किसी विश्वविद्यालय में और कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम के पास होने के बाद एडमिशन दिया जाता है.

B.Com Course की Duration कितनी है?

Bachelor of Commerce कोर्स की पढाई 3 सालो की होती है . इन तीन सालो में टोटल 6 सेमेस्टर होते है और अलग अलग सेमेस्टर में आपको अलग अलग विषयों की पढाई करनी होती है.

B.Com की फीस कितनी है?

जैसा की आपको पता है कि ये कोर्स 3 सालों का है. बी कॉम की फीस अलग अलग कॉलेज में अलग अलग होती है. सरकारी कॉलेज में थोडा कम फीस लगता है और प्राइवेट कॉलेज में थोडा ज्यादा फीस लगता है. लगभग 8 से 15 हज़ार फीस हो सकती है.

B.Com के Subjects क्या – क्या है?

B.Com के कोर्स को पूरा करते हुए आपको निम्नलिखित विषयो को पढना पढता है जैसे कि

  • Accountancy,
  • Business Economics including Business Mathematics,
  • Business Organization,
  • Mathematics,
  • Business Mathematics,
  • Economics,
  • Statistics,
  • Business Studies,
  • Office and Secretarial
  • Financial Accounting,
  • Elements of Cost Accountancy & Auditing,
  • Book Keeping,
  • Cost Accountancy & Principle of Management,
  • Commercial Law and preliminaries of Auditing,
  • Costing और
  • Taxation.

B.Com करने के फायदे क्या – क्या है?

आप कुछ भी सिखाते है तो उसका फायदा ही फायदा मिलता है. इसी प्रकार बी कॉम करने के भी फायदे है. चलिए जानते है –

  • सबसे पहले तो आप ग्रेजुएट हो जायेंगे
  • बी कॉम के बाद आप चार्टेड अकाउंटेंट बन सकते है
  • बैंक, रेलवे और अन्य सरकारी नौकरिया के लिए अप्लाई कर सकते हो
  • आप अकाउंटेंट की नौकरी कर सकते हो
  • मास्टर डिग्री के लिए अप्लाई कर सकते है जैसे की M.Com और MBA

B.Com करने के बाद कौन से Jobs मिलते है

मैं आपको बता दूँ कि कॉमर्स को क्लास 10 के बाद बहुत से स्टूडेंट्स चुनते है और क्यूंकि इस में बहुत सारे करियर ऑप्शन भी है.

जैसे ही आप बी कॉम पास करते हो तो आप के बहुत सारे अवसर मिलने लगते है. आपको देश ही नही बल्कि विदेश में भी काम करने की अवसर मिलते है.

आप इन पोस्ट्स पर कार्य कर सकते है –

  • अकाउंटेंट
  • ऑडिटर
  • कंसलटेंट
  • कंपनी सेक्रेटरी
  • फाइनेंस ऑफिसर
  • टैक्स अकाउंटेंट
  • सेल्स एनालिस्ट इत्यादि.

B.Com Course Kaise Kare in Hindi के बारें में मैंने आपको पूरी जानकारी पुरे डिटेल्स में दिया है. बी कॉम बहुत ही चर्चित कोर्स है और इसे लाखों स्टूडेंट्स दुनिया में पढ़ते है और अपने सपनो को पूरा करते है.

यह भी पढ़ें – 10 के बाद पॉलिटेक्निक कैसे करें ?

अपने इस पोस्ट में बहुत से जानकारियां पाई है बी कॉम कोर्स के बारें में. इसमे अपने जाना बी कॉम कोर्स क्या है और इसे करने के फायदे क्या क्या है? इत्यादि .

यदि आपको यह पोस्ट जानकारी से भरा लगा तो इसे अभी अपने दोस्तों के साथ और अपने सोशल मीडिया एकाउंट्स पर शेयर जरुर करें.

B.Com Course-related FAQs in Hindi

  1. B.Com का Fullform क्या है?

    B.Com का Full Form (English) में Bachelor of Commerce है और B.Com का Full Form (Hindi) में वाणिज्य स्नातक है.

  2. बीकॉम करने के साथ-साथ कंप्यूटर का कौन सा कोर्स करे जिससे हमें एक अच्छी नौकरी मिल जाए?

    अपने बहुत ही बढ़िया सोचा है. किसी भी कोर्स करने अलावा आपको कंप्यूटर में भी कोई अच्छा कोर्स करना चाहिए. बीकॉम करने के साथ-साथ आप डिप्लोमा इन फाइनेंसियल एकाउंटिंग का कोर्स कर सकते है और इसके अलावा आप चाहे तो GST और Tally का कोर्स कर सकते है क्यूंकि यह डायरेक्टली आपके बी कॉम के पढाई से जुड़ा हुआ है और आपको अच्छी नौकरी भी मिल जाएँगी.

  3. बी कॉम कोर्स को करने के लिए कितना समय लगता है?

    बी कॉम कोर्स को करने के लिए आपको 3 सालो का वक़्त देना होगा. इन तीन सालो में कूल 6 सेमेस्टेर्स की पढाई करनी होती हो और प्रत्येक सेमेस्टर में अलग अलग विषयों की पढाई की जाती है.

  4. बी कॉम कोर्स को करने में कितना खर्च लगता है या होता है?

    बी कॉम 3 सालो का कोर्स होता है और इसकी फीस अलग अलग कॉलेज में अलग अलग होती है. आमतौर पर 8 से 15 हज़ार रुपये तक प्रति साल तक होती है. बी कॉम Hons में थोडा ज्यादा फीस लगती, बी कॉम जनरल की तुलना में .

Leave a Comment